Tally में Voucher Entry कैसे करें?

Tally में Transactions (Journal Entries) को लिखना (Record करना) ही Voucher Entry कहलाता है. Manual Entry में इसे Journal Entry कहते हैं. तो आइये सीखते हैं Tally में Voucher Entry कैसे करें?

Payment Voucher (F5) 

Payment Voucher Entry तब करते हैं जब Business से किसी को Payment किया जाता है. Payment Cash हो या Bank से किया गया हो. इसके लिए F5 Function Key का Use किया जाता है. जैसे अमित को 5000 रुपए का भुगतान किया.

Receipt Voucher (F6)

Receipt Voucher Entry तब करते हैं जब Business में Payment प्राप्त होता है. Payment Cash हो या Bank / Cheque से प्राप्त किया गया हो, दोनों ही Condition के लिए Receipt Voucher का Use किया जाता है. इसके लिए F6 Function Key का Use किया जाता है. जैसे अमित से 5000 रुपए प्राप्त हुए.

Contra Voucher (F4)

Bank में Cash जमा करने और Bank से पैसे निकलने – इन 2 Conditions पर ही Contra Voucher का Use किया जाता है. इसके लिए F4 Function Key का Use किया जाता है.

Purchase Voucher (F9) 

जब हम Business में माल खरीदते हैं तो इसके Entry Purchase Voucher में करते हैं. इसके लिए F9 Function Key का Use किया जाता है.

Sales Voucher (F8)

जब हम माल बेचते हैं तो इसकी Entry Sales Voucher में की जाती है. इसके लिए F8 Key का Use किया जाता है.

Journal Voucher (F7)

Journal Voucher में हम 2 Accounts के मध्य Funds Adjustment करते हैं. जैसे Depreciation, Purchase Assets on Credit (उधार संपत्ति खरीदना), माल दान में देना, माल चोरी हो जाना या किसी भी तरीके से माल का नुकसान, व्यापार के मालिक द्वारा माल को Personal Use में लेना (Drawing), माल मुफ्त नमूने के रूप में बांटना, आदि. इसने पैसे का लेनदेन नहीं होता, न ही नगद और न ही Bank से.

Debit Note Voucher (CTRL + F9)

यदि हमारा ख़रीदा हुआ माल ख़राब निकल जाये तो उस माल को हम वापिस कर देते हैं, इसे Purchase Return कहा जाता है. ऐसे Transactions की Entry Debit Note Voucher में की जाती है. जैसे Priya को 1000 रुपए का माल वापिस किया. इसके लिए CTRL + F9 Keys का Use किया जाता है. यह तभी काम करेगा जब हम Accounting Features में जाकर Debit Note Voucher को Enable कर देंगे.

Credit Note Voucher (CTRL + F8)

यदि हमारा बेचा हुआ माल ख़राब निकल जाये तो उस माल को हम वापिस ले लेते हैं, इसे Sales Return कहा जाता है. ऐसे Transactions की Entry Credit Note Voucher में की जाती है. जैसे Priya से 1000 रुपए का माल वापिस आया. इसके लिए CTRL + F8 Keys का Use किया जाता है. यह तभी काम करेगा जब हम Accounting Features में जाकर Credit Note Voucher को Enable कर देंगे.

Stock Journal Voucher (ALT+ F7)

जब Stock एक गोदाम से दूसरे गोदाम में Transfer किया जाता है तो Stock Journal Voucher का Use किया जाता है. इसके लिए ALT + F7 Keys का Use किया जाता है. यह तभी काम करेगा जब गोदाम का Feature Enable हो.

Purchase Order Voucher (ALT + F4)

जब हमें Purchase Order की Entry Tally में करनी होती है तो हम Purchase Order Voucher का Use करते हैं. इसके लिए ALT +F4 Keys का Use किया जाता है. यह Voucher तभी काम करेगा जब हम Purchase Order के Feature को Enable कर देंगे.

Sales Order Voucher (ALT + F5)

जब हमें Sales Order की Entry Tally में करनी होती है तो हम Sales Order Voucher का Use करते हैं. इसके लिए ALT +F5 Keys का Use किया जाता है. यह Voucher तभी काम करेगा जब हम Sales Order के Feature को Enable कर देंगे.

Memorandum Voucher (CTRL + F10)

Tally में  Memorandum Voucher का उपयोग ऐसी Entry करने के लिए किया जाता है जो कि कुछ समय के लिए की जाती हैं. इनका Account पर कोई Effect नहीं पड़ता. इन्हें Only याद रखने के लिए किया जाता है. इसके लिए CTRL + F10 Keys का Use किया जाता है. यह तभी काम करेगा जब हम Accounting Features में जाकर ‘Use Reversing Journals and Optional Vouchers’ का Feature Enable कर देंगे.

आशा करता हूँ आपको ये सभी Voucher Types अच्छी तरह से समझ में आ गए होंगे. इनके बारे में Detail में Discuss हम आगे की Posts में करेंगे. यदि इनसे Related आपके कोई सुझाव हों तो Comment के माध्यम से जरुर बताएं.

Thank You…

Leave a Comment