Company Features in Tally

इस Post में हम Tally में Company Features के बारे में पढेंगे.

Company Features in Tally

Tally में Company Features को बदलने के लिए Function Key F11 का Use किया जाता है. F11 Press करने के बाद निम्न Window Open होती है –

company features in tally

Tally में Company Features को 3 भागों में बाँटा गया है-

  • Accounting Features
  • Inventory Features
  • Statutory and Taxation

Accounting Features

हम Company Features पर जाकर Accounting Features पर Click करके या Hot Key A Press करके या F1 Press करके Accounting Features Screen Open कर सकते हैं.

accounting features

General

(a) Maintain Accounts Only – यदि हम इसमें Yes Select करते हैं तो हम Company में Stock Maintain नहीं कर पाएंगे. यदि हम Account के साथ – साथ Stock भी maintain करना चाहते हैं तो हमें इसमें No करना होगा.

(b) Integrate Accounts and Inventory – यह तभी Active होगा जब हमें पहले Option में No Select किया हो. यदि हम इसमें No Select करते हैं तो Profit & Loss Account में Closing Balance Show नहीं होता. इसे हमें Manual Enter करना पड़ता है. यदि हम इसमें Yes Select करेंगे तो Profit and Loss में  Account में Closing Balance Show होगा, Manual Enter नहीं करना पड़ेगा.

(c) Use Income & Expenses A/c Instead of Profit & Loss A/c – इसमें By default No होता है. यदि हम इसमें Yes कर देते हैं तो Profit & Loss A/c की जगह पर Income and Expenses Account Show होता है. Profit & Loss A/C Trading Accounts के लिए Use होता है जबकि Income and Expenses Account Non-Trading Accounts के लिए Use होता है.

(d) Enable Multi Currency – इसमें By default No होता है. यदि हम इसमें Yes कर देते हैं तो हम Company Currency Accept कर सकते हैं. इसे Yes करने के बाद Multi – Currency Option Gateway of Tally में जाकर Account Into में Show होगा.

Gateway of Tally -> Account Info

multi currency

Outstanding Management

(a) Maintain Bill Wise Details – इस Option को Yes करने पर हम Bill Wise Feature को Activate कर सकते हैं.

इस Feature को Activate करने पर Sundry Debtors और Sundry Creditors के Ledger बनाते समय Maintain Balance Bill by Bill Option Show होता है. इस Option को Yes करने पर हमें एक नया Option Default Credit Period Show होता है. इसमें हम Credit Period लिख सकते हैं.

(c) Activate Interest Calculation – इस Option का Use Tally में Interest Calculate करने के लिए किया जाता है.

Cost/Profit Centers management

(a) Maintain Payroll – इस Option के द्वारा हम Tally में Payroll Feature को Activate करके Payroll Maintain कर सकते हैं.

(b) Maintain Cost Centers – इस Option का Use करके हम Tally में Cost Centers Maintain कर सकते हैं.

Invoicing

(a) Enable Invoicing – इस Option को Yes करके हम Purchase और Sales Vouchers को Invoice Format में Set कर सकते हैं.

(b) Record Purchases in Invoice Mode – इस Option को Yes करके हम Purchase को Invoice Format में कर सकते हैं.

(c) Use Debit and Credit Note – इसका Use करके हम Tally में Debit Note और Credit Note डाल सकते हैं. इसके द्वारा हम Purchase Return और Sales Return की Entries कर सकते हैं.

Budgets and Scenario Management

इसके द्वारा हम Tally में Budget Maintain कर सकते हैं. Budget Maintain करने के लिए इस Option में हमें Yes करना होता है.

Banking Features

इसके द्वारा हम टैली में Banking Features Activate कर सकते हैं. इसके Activate करने के लिए हमें इसमें Yes करना होता है.

इसे Yes करके हम Tally में Cheque Book Set कर सकते हैं. Cash Deposit Slip, Cheque Deposit Slip Print कर सकते हैं. इसमें हम Bank Related Entries को Maintain कर सकते हैं.

Other Features

इसके द्वारा हम Company की Mailing Details, Company Logo आदि Set कर सकते हैं. इस Feature को Activate करने के लिए हमें इस Feature को Yes करना होता है.

Inventory Features

हम Company Features पर जाकर Inventory Features पर Click करके या Hot Key I Press करके या F2 Press करके Accounting Features Screen Open कर सकते हैं.

inventory features

General

(a) Integrate accounts and Inventory – यदि हम इसमें No Select करते हैं तो Profit & Loss Account में Closing Balance Show नहीं होता. इसे हमें Manual Enter करना पड़ता है. यदि हम इसमें Yes Select करेंगे तो Profit and Loss में  Account में Closing Balance Show होगा, Manual Enter नहीं करना पड़ेगा.यदि हम इसमें No Select करते हैं तो Profit & Loss Account में Closing Balance Show नहीं होता. इसे हमें Manual Enter करना पड़ता है. यदि हम इसमें Yes Select करेंगे तो Profit and Loss में  Account में Closing Balance Show होगा, Manual Enter नहीं करना पड़ेगा.

(b) Enable Zero Valued Transactions – यदि हम Zero मूल्य की Transactions करना चाहते हैं तो हमें इसमें Yes करना होता है.

Storage and Classification

(a) Maintain Multiple Godowns – यदि हमारे पास एक से अधिक Godown हैं और हम इन Locations के मध्य होने वाले Stock के संचालन का हिसाब-किताब रखना चाहते हैं तो इस Options को Yes पर सेट करना होता है. हमारे द्वारा इस Options को Yes पर सेट किए जाने बाद ही Gateway of Tally>Inventory info मैन्यू में Godown पर Stock Options प्रदर्शित किया जाएगा. हम प्रत्येक लोकेशन पर अपने Stocks की पहचान करने में सक्षम होने के साथ ही साथ वाउचर एंट्री के दौरान एक अथवा अधिक लोकेशन्स के लिए Stock Entry कर सकते हैं.

(b) यदि हम Stock Category बनाना और व्यवस्थित रखना चाहते हैं तो इस Options को Yes पर सेट करे. यह Stock Item Creation स्कीन के अंतर्गत एक नई Field Category की रचना करेगा.

(c) Stock Items से संबंधित Batch Information को व्यवस्थित रखने के लिए इस Option को yes पर Set करते हैं. Stock Item Creation Window के अंतर्गत एक नई फील्ड Use Expiry Dates Show होगी.

Set Expiry dates for batches: यदि हम Batches हेतु Expiry Date Set करना चाहते है तो इस Options को Yes पर सैट करे. यह Stock Item Creation Window के अन्तर्गत एक Extra Field Use Expiry Dates Show करेगा. यह उन व्यवसायों के लिए उपयोगी होता है जो Expiry Dates वाले माल जैसे दवाइयाँभोजन और अन्य नाशवान पदार्थों का व्यापार करते हैं. Voucher Entry के दौरान Default रूप से Voucher Date को ही उत्पाद की Manufacturing Date  के रूप में माना जाता है. इस दिनांक को Change किया जा सकता है परंतुवाउचर दिनांक के बाद वाली किसी दिनांक पर नहीं. ठीक इसी तरह से Expiry Date पर Voucher Date से पहले वाली Date नहीं डाली जा सकती.

(d) Use Separate Actual and Billed Quantity –  यदि हम Invoice तैयार करते Time Actual और Billed Quantity को अलग – अलग रखना चाहते हैं तो इस Option को हम Yes पर Set करते हैं.

Other Processing 

Purchase Order और Sales Order बनाने के लिए इस Option को Yes किया जाता है. 

Invoicing

इसका Use Accounting Features के लिए किया जाता है.

Purchase Management

इसका Use Accounting Features के लिए किया जाता है.

Sales Management

इसका Use Price List बनाने के लिए किया जाता है.

Other Features

(a) Use Tracking Numbers – यदि हम Delivery Note और Invoice के बीच सम्बन्ध बनाये रखने के लिए Tracking Numbers का Use करना चाहते हैं तो हमें इसे Yes पर Set करना होता है.

(b) Use Rejection Inward / Outward Notes – यदि हम Sales Return और Purchase Return का रिकॉर्ड सामान्य Debit Note / Credit Note के स्थान पर अलग से रखना चाहते हैं तो इसे Yes पर Set करते हैं.

Statutory & Taxation

Tally का यह Feature हमें Tax Enable करने और Tax Calculate करने की सुविधा देता है. हम Company Features में F3 Function Key का Use करके Statutory & Taxation पर जा सकते हैं.

taxation

Leave a Comment